Breaking News
Home 25 राज्य 25 संजय राउत पर फ़िल्मकार महिला ने लगाए प्रताड़ना के आरोप

संजय राउत पर फ़िल्मकार महिला ने लगाए प्रताड़ना के आरोप

Spread the love

मुंबई । 2015 में शिवसेना संस्थापक बालासाहब ठाकरे के जीवन पर एक मराठी फिल्म बनी थी। नाम था – ‘बालकाडु’। अब इस फिल्म की निर्माता डॉक्टर स्वप्ना पाटकर ने शिवसेना संसद संजय राउत पर प्रताड़ना के आरोप लगाए हैं। स्वप्ना पेशे से साइकोलॉजिस्ट हैं। साथ ही वो ‘द रॉयल मराठी एंटरटेनमेंट’ नामक फिल्म प्रोडक्शन कंपनी की मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। वे 2013 में मराठी में मोटिवेशनल पुस्तक ‘जीवन फंडा’ भी लिख चुकी हैं।

अब स्वप्ना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख कर न्याय की गुहार लगाई है। उन्होंने खुद को एक शिक्षित और सबल भारतीय महिला बताते हुए पत्र में लिखा है कि उन्हें सहानुभूति नहीं, बल्कि इंसाफ चाहिए। स्वप्ना पाटकर ने आरोप लगाया है कि शिवसेना मुखपत्र ‘सामना’ के सह-संपादक संजय राउत पिछले 8 वर्षों से अपनी पार्टी के रुतबे और सिस्टम पर पकड़ का इस्तेमाल कर न सिर्फ उन्हें गालियाँ दे रहे हैं, बल्कि उनके परिवार और रिश्तेदारों को भी प्रताड़ित कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री को भेजे पत्र में ‘माइंडवर्क्स ट्रेनिंग सिस्टम्स’ नामक काउंसलिंग क्लिनिक चलाने वाली डॉक्टर ने आरोप लगाया है कि उन्हें अलग-अलग पुलिस स्टेशनों में कई मामलों में पूछताछ के लिए बुलाया जाता है। उन्होंने लिखा है कि ‘शिवसेना भवन’ की तीसरी मंजिल पर बुला कर उनके रिश्तेदारों से मारपीट की गई और उनसे संपर्क काटने को मजबूर किया है। साथ ही सब ख़त्म करने के लिए 4 करोड़ रुपए की वसूली का प्रस्ताव रखने का आरोप भी लगाया गया है। स्वप्ना ने पत्र में लिखा है:

बता दें कि डॉक्टर स्वप्ना पाटकर मुंबई में ‘सैफरन 12’ नामक एक मल्टी क्यूनीन फैमिली रेस्तरां भी चलाती हैं। मार्च 2013 में हुए रेस्तरां के उद्घाटन में अभिनेता संजय दत्त, संगीतकार बप्पी लाहिरी, गायक सुरेश वाडेकर के अलावा दिलीप ताहिल और मुरली शर्मा जैसे वरिष्ठ चरित्र अभिनेता भी पहुँचे थे। सबसे बड़ी बात तो ये कि ‘सामना’ में वो ‘कॉर्पोरेट मंत्र’ और ‘आठवड्याचा मानुष’ नाम से कॉलम लिखा करती थीं।

अब स्वप्ना ने आरोप लगाया है कि राज्यसभा सांसद संजय राउत के इशारे पर पुलिस ने उन पर ‘धंधा करने’ का आरोप भी लगाया था। उन्होंने आरोप लगाया है कि 2017 में खुद संजय राउत ने फोन पर धमकी दी और 2018 में कॉन्ट्रैक्ट पर आदमी रख कर उनका पीछा कराया गया। बकौल स्वप्ना, उनके सोशल मीडिया हैंडल्स को हैक कर कभी सुसाइड नोट तो कभी अश्लील सामग्रियाँ डाली गईं, लेकिन पुलिस ने साफ़ कह दिया कि संजय राउत के खिलाफ वो FIR दर्ज नहीं कर सकते।

उनका आरोप है कि उनके सहकर्मियों को झूठे मामलों में फँसा कर गिरफ्तार करवाया गया और उनका चरित्र प्रमाण-पत्र बनवाया गया। उन्होंने बताया कि वो ‘राष्ट्रीय महिला आयोग’ के पास भी लिखित शिकायत लेकर गई थीं, लेकिन पुलिस NCW का भी सम्मान नहीं करती है। पत्र में उन्होंने संजय राउत के लिए ‘दरिंदा’ शब्द का इस्तेमाल करते हुए लिखा है कि उन्हें अब भी अश्लील वीडियो कॉल की जाती है और गालियाँ बकी जाती है।

बकौल स्वप्ना पाटकर, उन्होंने गृह मंत्री अनिल देशमुख और NCP सुप्रीमो शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले को ‘संजय राउत की हरकतों’ के बारे में बताया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। उन्होंने मनसुख हिरेन और पूजा चव्हाण की संदिग्ध मौतों का जिक्र करते हुए कहा कि अगर उनकी मौत होती है तो ये आत्महत्या नहीं होगी। जहाँ मनसुख हिरेन एंटीलिया केस में मृत पाए गए थे, TikTok स्टार पूजा चव्हाण की मौत के मामले में शिवसेना नेता वो महाराष्ट्र के वन मंत्री संजय राठौड़ का नाम सामने आया था।

डॉक्टर पाटकर ने अपने सोशल मीडिया हैंडल से कई स्क्रीनशॉट शेयर किया है, जिसमें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को मेल भेजने के बाद आए एक्नॉलेजमेंट को देखा जा सकता है। साथ ही उन्होंने एक चैट स्क्रीनशॉट शेयर कर दावा किया कि संजय राउत उन्हें मैसेज भेजते हैं। उन्होंने मुंबई के जोन 8 के DCP को भी मेल लिखा था। उन्होंने कहा कि ट्विटर पर संजय राउत ने उन्हें ब्लॉक कर रखा हुआ है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*