Breaking News
Home 25 गाज़ियाबाद 25 टीला मोड पुलिस ने युवक की हत्‍या के मामले में मास्‍टर माइंड समेत भाडे के दो हत्‍यारों को गिरफ्तार किया

टीला मोड पुलिस ने युवक की हत्‍या के मामले में मास्‍टर माइंड समेत भाडे के दो हत्‍यारों को गिरफ्तार किया

Spread the love

विशेष संवाददाता

गाजियाबाद। ससुर का दोस्‍त साली के साथ शादी करने में बाधा बन रहा था इसलिए दामाद ने बिहार से भाडे के हत्‍यारे बुलाकर उसे ठिकाने लगा दिया। टीला मोड पुलिस ने हत्‍या के मास्‍टर माइंड और सुपारी किलर को गिरफ्तार कर 17 मार्च को फेज-2 के जंगल में हुई संजय कुमार की हत्‍या का परदाफाश कर दिया है। हांलाकि परिजनों ने इस मामलें में लेन देन के विवाद को लेकर मृतक के जानकार को नामजद किया था। लेकिन पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज व तकनीकी जांच के आधार पर हत्‍याकांड के मास्‍टरमाइंड व भाडे के हत्‍यारों को गिरफ्तार कर लिया है।


एसपी सिटी सेंकेंड ज्ञानेन्‍द्र कुमार सिंह ने बताया कि गाजियाबाद के थाना टीला मोड़ क्षेत्र में 17 अप्रैल को एक शख्स की गोलीमार कर हत्या कर दी गई थी। उसका शव पास के जंगल में पड़ा मिला था। मृतक की शिनाख्त भोपुरा निवासी संजय कुमार के तौर पर हुई थी। मृतक के भाई अचल कुमार ने इस हत्या के मामले में शक के आधार पर लेबर से हुए विवाद में हरेराम नाम के शख्स को नामित किया था लेकिन जब जांच की तो हत्या की कुछ और वजह सामने आई।

हत्या का खुलासा हुआ तो चौक गई पुलिस

एसपी सिटी ज्ञानेंद्र कुमार सिंह इस मामले की जांच के लिए पुलिस ने कई टीमें गठित की गई थी। जिसके बाद हत्या से जुड़े हर साक्ष्य को जुटाया गया। संजय की हत्या के मामले में पुलिस ने पहले लेबर विवाद की वजह से हरेराम को पकड़ा था। लेकिन जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ती गई पूरा मामला खुलता चला गय। इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने हत्या के मास्टरमाइंड मनोज नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है जो मृतक संजय के दोस्त का दामाद है। दरअसल मनोज अपनी ही साली से शादी करना चाहता था, लेकिन संजय के कहने पर उन्होंने शादी से इनकार कर दिया। जिसके बाद मनोज ने उसे रास्ते से हटाने का मन बना लिया। 

सुपारी किलर से कराई थी हत्या

थाना प्रभारी टीला मोड महावीर चौहान ने बताया कि मनोज ने संजय महतो को मारने के लिए बिहार से भाडे पर शूटर बुलाए थे। उसे मारने के लिए दो लाख 20 हजार की राशि तय हुई। इनमें से एक लाख रुपये उसने बतौर एडवांस दिए। 17 अप्रैल को जब संजय ड्यूटी से घर लौट रहा था तो ये शूटर उसे पीछे लग गए और कृष्ण विहार फेस टू के जंगल के पास पहुंचते ही पिस्टल से सीने पर गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद दोनों मौके से फरार हो गए। जबकि मनोज उस समय गुड़गांव में था। हत्या के बाद मनोज बाकि बची राशि पेटीएम के जरिेए भेज रहा था।

पुलिस ने घटनास्‍थल से उठाए मोबाइल फोन के सक्रिय डाटा और सीसीटीवी के आधार पर पहले भाडे के हत्‍यारों को पता लगाया उसके बाद और उसके बाद पुलिस हत्या के मास्टरमाइंड मनोज तक पहुंची जिसके बाद और भाड़े के दोनों शूटर मनीष और विद्यानंद तथा मनोज को गिरफ्तार कर लिया गया इस मामलें में एएसपी/ क्षेत्राधिकारी चतुर्थ अभिजीत आर शंकर के नेतृत्‍व में गठित टीम में शामिल एसएचओ महावीर सिंह चौहान एसएसआई उपेन्‍द्र मलिक, एसआई प्रवीण मलिक, प्रबल प्रताप, हैड कांस्‍टेबल राजीव, कांस्टेबल नीरज कुमार तथा सर्विलांस सेल के कांस्‍टेबल योगेन्‍द्र की अहम भूमिका रही ।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*