Breaking News
Home 25 गाज़ियाबाद 25 मुख्य कर अधिकारी के खिलाफ बीजेपी के पूर्व पार्षद ने खोला मोर्चा

मुख्य कर अधिकारी के खिलाफ बीजेपी के पूर्व पार्षद ने खोला मोर्चा

Spread the love

गजियाबाद। बीजेपी के पूर्व पार्षद मुकेश त्यागी ने नगर निगम के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कर निर्धारण अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई के लिए शासन को लिखने का नगर आयुक्त से अनुरोध किया है। श्री त्यागी ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्य कर निर्धारण अधिकारी के द्वारा आर्थिक लाभ हासिल करने के लिए लीक से हटकर कर निर्धारण से जुडी फाइलों में पुनः सुनवायी के माध्यम से टैक्स कम करते हुए निगम को आर्थिक चपत लगायी जा रही है। जिस राजनगर एक्सटेंशन के भवनों पर 80 हजार का टैक्स तय किया गया,उसे तीस हजार रूपए किया जा रहा है।

त्यागी ने कहा कि नगर निगम के द्वारा करांकन निर्धारण एवं आपत्ति निस्तारण के साथ ही बिल जारी कर दिए जाते है। कई बार निर्णय एक तरफा होते है। जिन मामलों में एक बार कर निर्धारण किया जा चुका है,उनमें न्यायालय के हस्तक्षेप के आधार पर ही सुनवायी की जा सकती है। श्री त्यागी ने आरोप लगाया कि पुनः सुनवायी के नाम पर निगम को आर्थिक चपत लगायी जा रही है। ये काम जोन प्रभारियों की मिलीभगत से किया जा रहा है। यहां बता दे कि हाल में सदन की बैठक के दौरान भी कुछ पार्षदों के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी सवालों के जबाव नहीं दे पाए थे। मुख्य कर निर्धारण अधिकारी को निगम की पार्किंग प्रभारी के तौर पर भी जिम्मेदारी दी गई है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*