Breaking News
Home 25 दिल्ली 25 क्या इस्लाम ने जय श्री राम के नारे से नाराज होकर की थी रिंकू शर्मा की हत्या?

क्या इस्लाम ने जय श्री राम के नारे से नाराज होकर की थी रिंकू शर्मा की हत्या?

Spread the love

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली के मंगोलपुरी में रिंकू शर्मा नाम के युवक की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई. इस हत्याकांड के बाद मंगोलपुरी पुलिस ने 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. इस बीच मृतक रिंकू के परिवार के लोगों ने शुक्रवार को दिल्ली पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है. 

आरोपियों की पहचान ज़ाहिद, मेहताब, दानिश, ताजुद्दीन और इस्लाम के तौर पर हुई है. परिवार का कहना है कि रिंकू की हत्या इसलिए कि गई की वो इलाके में जय श्री राम के नारे लगाता था. 5 अगस्त 2020 को रिंकू ने ‘राम मन्दिर’ बनने की खुशी में इलाके में श्री राम रैली निकाली थी. तब भी आरोपी पक्ष के लोगों ने ऐतराज जताया था. हालांकि जब ये सवाल पुलिस से किया गया तो उन्होंने कहा कि हम हर एंगल से जांच कर रहे हैं, झगड़ा रेस्तरां बंद होने और बिजनेस को लेकर दुश्मनी के चलते शुरू हुआ था. हम जांच कर रहे हैं,

दूसरी तरफ रिंकू शर्मा की हत्या को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इस हत्याकांड को लेकर कई तरह की चर्चा हो रही है। हालांकि दिल्ली पुलिस ऐसे सभी दलीलों को फिलहाल खारिज करते हुए जांच की बात कह रही है। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, मृतक के छोटे भाई मन्नू शर्मा जो कि वीएचपी के यूथ विंग का सदस्य है, का कहना है, ‘आरोपी के साथ हमारी पिछले एक साल से विवाद था।अगस्त में, हमने राम मंदिर के लिए एक छोटा आयोजन किया। वे इससे नाराज थे लेकिन हमने उन्हें नजरअंदाज कर दिया। हम हमेशा अच्छे पड़ोसी रहे हैं। आरोपी के परिवार के एक महिला जब गर्भवती थी तो खून की जरूरत पड़ी। रिंकू ने उसे खून दिया था।’

हालांकि, पुलिस का कहना है कि दानिश और रिंकू की अपने पड़ोस में बुधवार रात एक जन्मदिन की पार्टी में बहस हो गई थी, जिसके बाद लगभग 11 बजे रिंकू की हत्या कर दी गई। पार्टी में दानिश और रिंकू दोनों को आमंत्रित किया गया था। पार्टी के बाद जब रिंकू अपने दोस्त के साथ अपने घर के लिए निकल गया, तभी दानिश ने उन्हें रोक लिया। इसके बाद फिर से उनमें बहस हो गई और रिंकू ने दानिश को थप्पड़ मार दिया। दानिश, जो अपने तीन दोस्तों के साथ था, उसने रिंकू को पकड़ लिया और उसे चाकू मार दिया। रिंकू को बचाने की कोशिश के दौरान दोस्त को भी मामूली चोटें आईं। रिंकू के गिरने के बाद, चारों आरोपी वहां से भाग गए।

दिल्ली पुलिस ने रिंकू शर्मा की हत्या के चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या को बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में बुधवार देर रात अंजाम दिया गया। पुलिस अभी भी यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि बहस का कारण क्या था। आपको बता दें कि रिंकू शर्मा की हत्या के बाद परिजनों के इंसाफ दिलाने के लिए ट्विटर पर #JusticeForRinkuSharma चल रहा है।

जिस आरोपी इस्लाम ने रिंकू शर्मा की हत्या की उसी की पत्नी को रिंकू ने तीन साल पहले जिंदगी दी थी यही नहीं कोरोना के दौरान आरोपी के भाई की भी मदद की थी।

इस्लाम की पत्नी को तीन साल पहले रिंकू ने खून देकर उसकी जान बचाई थी। उस वक्त उसकी पत्नी बहुत बीमार थी और इलाज के लिए खून की जरूरत थी। तब रिंकू ने ही उसकी पत्नी को खून देकर जान बचाई थी।

पिछले साल इस्लाम का भाई कोविड ग्रस्त हो गया था तब रिंकू ने ही उसे अस्पताल में भर्ती कराने और बेहतर इलाज उपलब्ध कराने में मदद की थी। पर उसे क्या पता था कि जिसकी पत्नी और भाई की वह मदद कर रहा है एक दिन वही उसे मौत के घाट उतार देगा।

यह हैशटैग ट्विटर के टॉप ट्रेंड में यह पहले नंबर पर काबिज है। मृतक के बारे में कहा जा रहा है कि वह भारतीय जनता पार्टी और विश्व हिन्दू परिषद से जुड़ा हुआ था। वह अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए चलाए जा रहे दान संग्रह अभियान का भी हिस्सा था। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है, लेकिन ट्विटर पर लोगों ने इंसाफ की मांग तेज कर दी है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*