Breaking News
Home 25 गाज़ियाबाद 25 एसपी सिटी अभिषेक वर्मा के अल्‍पावधि में तबादले से जनता हैरान, किए थे कई बड़े काम, जनता के लिए सदैव खुला था दरबार

एसपी सिटी अभिषेक वर्मा के अल्‍पावधि में तबादले से जनता हैरान, किए थे कई बड़े काम, जनता के लिए सदैव खुला था दरबार

Spread the love

विशेष खबर संपादक विनीतकांत ने दिए विदाई पुष्‍प और नई जिम्‍मेदारी की शुभकामनाएं

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मंगलवार को चार आइपीएस अफसरों का तबादला किए थे । इनमें एसपी विजिलेंस के साथ राज्यपाल के एडीसी भी बदले गए हैं। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के एडीसी डॉ. अभिषेक महाजन को एसपी सतर्कता अधिष्ठान लखनऊ के पद पर तैनात किया गया जबकि उनकी जगह अपर पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद के एसपी सिटी अभिषेक वर्मा को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का परिसहायक (एडीसी) बनाया गया है। एसपी सतर्कता अधिष्ठान लखनऊ शैलेश कुमार यादव का तबादला उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय में इसी पद पर किया गया है। शाहजहांपुर के अपर पुलिस अधीक्षक नगर निपुण अग्रवाल अब गाजियाबाद के नए एसपी सिटी होंगे । विशेष खबर के संपादक के संपादक विनीतकांंत पाराशर ने अभिषेक वर्मा को राज्‍यपाल का एडीसी के बनने की शुभकामनांए देते हुए गाजियाबाद में उनके कार्यकाल की सराहना कर पुष्‍प गुच्‍छ देकर वर्मा को शुभकामनाओं की भरी विदाई दी है।

अभिषेक वर्मा

बता दें कि करीब छह माह पहले कोरोना संक्रमण के दौर में अगस्‍त महीने में बरेली से स्‍थानांतरित होकर गाजियाबाद आए थे। इस दौरान उन्‍होंने गाजियाबाद में इतने अल्‍प काल में ही अपने काम से जनता का ि‍दिल जीत लिया था। अभिषेक वर्मा ने पिछले छह माह के दौरान नगर पुलिस की कोरोना के नाम पर लापरवाही बरतने की कमियों में सुधार करते हुए अपराध पर लगाम लगाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई। शहर में गुडमार्निंग गैंग की वारदातों पर लगाम लगाने के साथ उन्‍होंने बीजेपी विधायक अजीतपाल त्‍यागी के मामा नरेशपाल के बहुचर्चित हत्‍याकांड का खुलासा करने में महत्‍वपूर्ण भू‍मिका अदा की।

अभिषेक वर्मा ने अल्‍पकाल में ही नगर पुलिस क्षेत्र में अपराध की कई बडी घटनाओं को खुलासा करने में सक्रियता दिखाई थी। इस दौरान शहरी क्षेत्र में कोरोना नियंत्रण के साथ लोगों को कोविड के नियमों को पालन कराने के प्रति जागरूक कराने में अहम भूमिका निभाई।

हर दिल अजीज अधिकारी थे अभिषेक वर्मा

जब जन्‍मदिन पर विशेष खबर संपादक विनीतकांत और सहयोगी तरूण भारद्वाज ने वर्मा को भेंट किया विशेष चित्र

एसपी सिटी अभिषेक वर्मा केवल छह माह के भीतर गाजियाबाद की जनता के बीच इतने लोकप्रिय हो गए कि अचानक हुए उनके तबादले की खबर सुनकर लोगों को विश्‍वास ही नहीं हो रहा कि इतना अच्‍छा काम करने के बावजूद क्‍यों इतनी जल्‍दी दूसरे स्‍थान पर उनका तबादला कर दिया गया। दरअसल, गाजियाबाद के एसपी सिटी के रूप में उनकेे ऑफिस और घर के दरवाजे हमेशा पीडितों की मदद और लोगों की शिकायते सुनने के लिए खुले रहते थे। अभिषेक वर्मा ने अपने सामने आने वाले फरियादियों को कभी ि‍निराश नहीं किया। इसीलिए वे हर दिल अजीज अधिकारी बन गए थे।

मीडिया के बेहतरीन दोस्‍त थे, विशेष खबर से था विशेष लगाव

तरूण भारद्वाज एसपी सिटी अभिषेक वर्मा को विदाई देते हुए

गाजियाबाद में ज्‍यादातर अधिकारी मीडिया से दूरी बनाकर रखते हैं। लेकिन एसपी सिटी अभिषेक वर्मा इकलौते ऐसे अफसर थे जो मीडिया वालों से दोस्‍ताना व्‍यवहार करते थे। चाहे किसी खबर की जानकारी की बात हो या मीडिया की तरफ से उठाए गए पुलिस की खामियों का मामला वे हमेशा इन पर गंभीरता से काम करते थे। विशेष खबर समाचार पत्र में लिखी गई अपराध की विश्‍लेषणात्‍मक खबरों को एसपी सिटी वर्मा गंभीरता से पढते थे। विशेष मीडिया समूह के संपादक विनीतकांत पाराशर से समय समय पर उनकी शहर की कानून व्‍यवस्‍था को लेकर चर्चा होती थी। विशेष खबर के संपादक ने विनीत कांत पाराशर ने अपने सहयोगी तरूण भारद्वाज के साथ उनके पिछले दिनों हुए जन्‍मदिवस समारोह पर एक यादगार चित्र भेंट किया था। लेकिन नहीं पता था कि इतनी जल्‍दी वर्मा को शहर का साथ छोडकर कहीं दूसरी जगह जाना पडेगा। विशेष खबर संपादक ने अभिषेक वर्मा को राज्‍यपाल एडीसी के बनने की शुभकामनांए देते हुए गाजियाबाद में उनके कार्यकाल की सराहना करते हुए पुष्‍प गुच्‍छ देकर वर्मा को शुभकामनाओं की भरी विदाई दी है।

About admin

One comment

  1. abhishek verma is humen being cop

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*